देश की परमाणु मिसाइल “अग्नि-5” का सफल परिक्षण हुआ जिसकी रेंज में हैं पाक और चीन सहित आधा विश्व

1757

सोमवार को भारत ने अपनी सबसे लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइल अग्नि 5 का परीक्षण व्हीलर द्वीप ( एपीजे अब्दुल कलाम आइलैंड ) से किया, इस मिसाइल का निर्माण DRDO ( डिफेंस रिसर्च एंड डेवलेपमेंट ऑर्गनाइजेशन) द्वारा किया गया है, ये मिसाइल एटमी हथियार ले जाने में सक्षम है , ये मिसाइल पाकिस्तान और चाइना के साथ साथ पूरे यूरेशिया (यूरोप+एशिया) तक अपनी चपेट में ले सकती है, इस मिसाइल की मारक क्षमता 5000KM से ज्यादा है इसलिए 5000KM पर रखा कोई दुश्मन के टारगेट पर सिर्फ 20 मिनट में विध्वंस कर सकती है !

loading...

इस मिसाइल में टेक्नोलॉजी 

  • अग्नि मिसाइल के पहले ही 3 सफल परिक्षण हो चुके !
  • अग्नि 5 मिसाइल सतह से सतह मार करने वाली मीडियम से इंटर कॉन्टिनेंटल रेंज की मिसाइल है!
  • इसरो वैज्ञानिको के अनुसार इस अग्नि 5 मिसाइल में नेविगेशन और गाइडेड सिस्टम लगाया गया है जिसके कारण ये एक ख़ास मिसाइल बन गई है , कुछ और सफल परीक्षण करने के बाद हम इसको सेना में शामिल कर सकेंगे!
  • मिसाइल की विशेषता –

    • ये मिसाइल 5000km से ज्यादा दूरी तक मार कर सकती है
    • 1000kg तक का परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है
    • चीन और पाकिस्तान के साथ साथ पूरे यूरोप को अपनी चपेट में ले सकती है
    • इसकी लम्बाई 17 मीटर है और भार 50 टन है, जिस कारण से इसको कहीं पर भी आसानी से ले जा सकते है
    • इस मिसाइल से सतह से सतह पर मार करते समय डिटेक्ट नहीं कर सकते
    • इस मिसाइल को केनेस्टर टेक्नोलॉजी से लांच कर सकते है जिस कारण इसको किसी भी जगह पर आसानी से ट्रान्सफर कर लांच कर सकते है
    • इस मिसाइल के तीन भाग है और ये एक ठोस गैस (सॉलिड फ्यूल) से चलती है, इसमें एक साथ कई नुक्लेअर हथियार छोड़े जा सकते है, और अगर एक बार इसको छोड़ दिया तो फिर रोक नहीं सकते
    • सिर्फ अमेरिका को छोड़कर पूरा एशिया, अफ्रीका महाद्वीप और यूरोप इस भारत की अग्नि 5 मिसाइल के प्रभाव क्षेत्र में होगा

    अग्नि 5 के 3 स्टेज का संचालन

    1# सबसे पहले मिसाइल का इंजन इसको 40km ऊपर आकाश में ले जायेगा

    2# यह 150km तक जायेगी

    3# इसके बाद ये मिसाइल 300km तक जायेगी

    MTRC के बाद पहला टेस्ट

    भारत को MTRC ( मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम ) ग्रुप में एंट्री मिल चुकी है इस ग्रुप में अभी 35 सदस्य देश है,

    MTRC ग्रुप में प्रवेश मिलने के बाद भारत का ये पहला टेस्ट है

 

loading...
SHARE